1009 वेळेस इंटरव्ह्यू मध्ये नापास झाल्यावर KFC ची निर्मिती .. वाचा कर्नल सैंडर्स यांची प्रेराणादाई स्टोरी

kfc-owner-colonel-harland-sanders-life-story

Colonel Harland Sanders, KFC (Kentucky Fried Chicken) के founder का नाम बहुत कम ही लोग जानते होंगे। कर्नल सैंडर्स का अपना छोटा सा Business था जिससे इनकी रोजी-रोटी चलती थी, लेकिन वहां पर highway बनने के कारण इनका business बन्द हो गया। कुछ ही दिनों में इनकी पूँजी भी खत्म हो गयी और खाने के भी लाले पड़ गये। अब उनकी उम्र भी लगभग 65 वर्ष हो चुकी थी और हाल यह था की खोने के लिए अब उनके पास में कुछ भी नहीं बचा था।Colonel Harland Sanders को chicken बनाना बहुत पसंद था और उनको अपने चिकन प्रयोग पर बहुत भरोसा था, वो मसाले और प्रेसर कुकर लेकर अपनी चिकन बनाने का प्रयोग की मार्केटिंग करने निकल पड़े। उन्होंने अलग-अलग रेस्टोरेंट से मिलना शुरू किया। समय ने फिर भी उनका साथ नहीं दिया, एक-एक करके सभी रेस्टोरेंट मालिक उन्हें रिजेक्ट करते गये।

लेकिन कर्नल सैंडर्स ने भी हार नहीं मानी, वह लगातार अपने कार्य में लगे रहे, सीखते रहे और कोशिश रहे। आपको यह सुनकर हैरानी होगी कि वह 1009 बार Interview में असफल रहे और एक हजार नौ (1009) लोगो ने उनको रिजेक्ट कर दिया, तब जाकर उनको सफलता मिल ही गई। हाँ अपने सही पढ़ा है, एक हजार नौ बार रिजेक्ट होने के बाद, एक हजार नौ बार ना सुनने के बाद उनको उनकी पहली हाँ मिली।

सोचो 65 की उम्र में, एक एसी उम्र जब लोग रिटायर हो जाते हैं, एक इस उम्र में जब लोग दुबारा उठने से हार मान लेते हैं। उस उम्र में उन्होंने अपने चिकन प्रयोग के साथ एक ऐसा बिज़नस खड़ा कर दिया जो आज 120 देशों में है, 18000 से ज्यादा KFC के रेस्टोरेंट्स (Restaurants) हैं, और 20 अरब डॉलर से ज्यादा उनका एक साल की कमाई है।

दोस्तों इस दुनिया में कुछ भी नामुमकिन नहीं है, लेकिन लोग फिर भी अपने इरादे तोड़ देते हैं। कोई भी कार्य अगर सच्चे दिल से, ईमानदारी, मेहनत और लगन से किया जाय तो उसमे एक न एक दिन सफलता अवश्य मिलती है। संत कबीरदास जी ने सही ही लिखा है.जैसा कि कर्नल सैंडर्स की कहानी आपने पढ़ी, हम इस नतीजे पर पहुँचते हैं कि अगर कोई भी व्यक्ति लगातार प्रयास करता रहे तो एक दिन सफल अवश्य होगा।

Loading...

प्रतिक्रिया द्या

Please enter your comment!
Please enter your name here